परिवार ने कर दिया जिंदा बेटी का अंतिम संस्कार, सच सामने आया तो लोगों के उड़ गए होश

इस दुनिया में हर तरह के लोग मौजूद हैं और उनकी अलग-अलग विचारधारा भी हैं, ऐसे में जहां एक ओर समाज आधुनिकता और सभी को समानता की बात करता हैं तो दूसरी ओर एक समाज ऐसा भी हैं जो छोटी-छोटी बातों पर हिंसा पर उतारा आ जाता हैं। दरअसल दुनिया के कई हिस्से आज भी ऐसे हैं जहां की सभ्यता मानों सौ साल पुरानी हैं और वहाँ आज भी पुरुषों और महिलाओं में फर्क किया जाता हैं। यह समाज ऐसे हैं जो मानते हैं कि महिला पुरुष से कमजोर होती हैं और जो एक पुरुष कर सकता हैं वो महिलाएं नहीं कर सकती ही हैं। इतना ही नहीं परिवार के सम्मान के नाम पर आज भी महिलाओं के ऊपर अत्याचार किए जाते हैं।

बता दें कि ये अत्याचार इतने डरावने और भयानक होते हैं कि उसके बारे में सुनकर लोगों की रूह काँप जाती हैं। ऐसे में आज हम आपको एक ऐसे घटना के बारे में बताने जा रहे हैं जिसके बारे में सुनकर आप भी चौक जाएंगे। दरअसल यह मामला जाती-धर्म का हैं, जिसे सुनकर आप भी कहेंगे की लोगों की मानसिकता आज भी सौ साल पुरानी ही है।

आगे अगले पेज पर पढ़े क्यों  परिवार ने कर दिया जिंदा बेटी का अंतिम संस्कार:

Loading...