99% लोगों को पता ही नहीं है की स्टेपलर का इस्तेमाल ऐसे भी हो सकता है….

स्टेपलर – एक ऐसी चीज़ जो हम सबके घरों में पाई जाती है और साथ ही हमारे लिए बहुत ही उपयोगी वस्तु भी है | आपने स्कूल या आफिस में ज्यादातर स्टेपलर का इस्तेमाल तो किया ही होगा | कभी कागजों को जोड़ने के लिए तो कभी किताब-कापियों पर कवर चढाने के लिए | स्टेपलर का इस्तेमाल करने से हमारा काम ओर भी आसान हो जाता है | सबसे फायदे की बात तो यह है कि कि इससे हमारे जरुरी कागजात इधर-उधर होने की जगह एक जगह पिन से लगे हुए रहते हैं | और साथ ही बहुत व्यवस्थित ढंग से रखने में सहायता मिलती है |

हमारे जीवन  में पहले के  मुकाबले सभी काम इतने आसान हो गये है कि हर छोटे से बड़ा काम मिनटों में खत्म हो जाता है और साथ ही हमारी जिंदगी में पहले से ज्यादा रफ्तार भी आ गयी है | पहले समय में बच्चे अपनी कॉपी किताबों पर कवर चढ़ाते थे तो उस दौरान उन कवर को स्टेपल करने के लिए स्टेपलर नहीं होता था और इसलिए बच्चे गोंद या टेप से कवर चिपका दिया करते थे जिसके कारण वह किताब के कवर ज्यादा नहीं चल पाते थे और टेप अदि से कवर करने में दिक्कते भी होती थी |

लेकिन आज के समय स्टेपलर होने की वजह से यह काम और भी आसान हो चुका है और सही ढंग से किताबों पर कवर भी चढ़ जाता और साथ ही समय भी कम लगता है | ऑफिस या बैंक अदि में तो स्टेपलर एक बहुत बड़ी जरूरत है जिसके बिना एक दिन का भी काम पूरा नही होता |

स्टेपलर की धातु में कई प्रकार की विशेषता होता है सबसे खास बात है यह कि इसे हम 180 डिग्री पर भी घुमा सकते है | ऐसा करने के बाद स्टेपलर को यूज करते समय पिन जब लगेगी तो आपको कुछ  नया  देखने को मिलेगा | जी हां आप जब भी पिन पेपर में ठोकेंगे तो वह अन्दर की साइड नहीं मुड़ेगी बल्कि उसके दोनों किनारे बाहर की साइड मुड़ जायेंगे | अगर अभी तक आप  लोग सिर्फ अन्दर की साइड मुड़े हुए पिन को ही यूज कर रहे थे, अब बाहर की साइड भी उपयोग लेकर देखिये | आप एक चीज़ देखेंगे की आप जब भी आप पिन बताये गये तरीके से यानि बाहर की ओर मोड़ कर लगायेंगे तो वो अन्दर की ओर मुड़ी पिन से ज्यादा दिन तक चलेगी और साथ ही उसकी पकड़ भी मजबूत रहेगी |

Loading...