रावण को मारने और सीता का परित्याग करने के बाद ,सीता से दोबारा मिली थी शूर्पनखा और पूछा था ये एक सवाल

आपने रामायण की कथा कई बार सुनी और पढ़ी होगी। इतना ही नहीं आपने रावण के विनाश के बारे में भी सुना होगा और आप यह बात भी जानते होंगे कि रावण के अंत का कारण उसका अहंकार और लालच था। लेकिन यदि रावण के अंत में उसकी बहन शूर्पणखा को भी जिम्मेदार माना जाए तो इसमें कोई हर्ज नहीं हैं क्योंकि कहीं ना कहीं शूर्पणखा भी अपने भाई के अंत में जिम्मेदार थी। दरअसल राम और रावण के बीच युद्ध का कारण शूर्पणखा भी एक वजह थी। यूं तो अपने इस तरह की कहानियाँ बहुत सुनी होगी लेकिन आज हम आपको रामायण में सीता और शूर्पणखा के मुलाक़ात के बारे में कुछ बताने वाले हैं क्योंकि इस बात को बहुत ही कम लोग जानते होंगे। दरअसल जब राम और सीता वनवास काट कर अयोध्या वापस आए थे तब सभी ने सीता के ऊपर अपवित्र होने का लांछन लगाया था और राम ने लोक-लज्जा के डर अपनी पत्नी सीता का त्याग कर दिया था, इतना ही नहीं जब राम ने सीता का त्याग किया था तब सीता गर्भवती थी।

आगे पढ़ें अगले पेज पर(page-2) किसलिए सीता से मिलने दुबारा आयीं थी शूर्पणखा:

Loading...