इन चीजों के खा लेने से कभी नहीं होता है कैंसर, एकबार जरूर जान लें कि क्‍या है ये चीज

कैंसर का नाम ही सुनकर आधे लोगों की मानो जान चली जाती हैं| इसका नाम ही सुनकर लोग घबरा हो जाते हैं| ये रोग किसी को भी हो सकता हैं, बच्चे, बड़े या बूढ़ों सभी को हो सकता हैं| इसकी शुरुआत एक गांठ के रूप में होती हैं और शुरुआत में बड़ी साधारण लगती हैं लेकिन इसको यदि ध्यान नहीं दिया जाता हैं तो यह एक जानलेवा बीमारी बन जाती हैं| शुरुआत में इसका इलाज संभव हैं लेकिन अपने इलाज में देरी की तो यह आपकी जान ले सकता हैं|

पुरुषों में गला, फेफड़ों, मुँह, प्रोस्टेट, खाने की नली, जीभ, आवाज की नली और ओरल कैंसर होता हैं और महिलाओं में गर्भाशय, ब्रेस्ट, पित्ताशय, मस्तिष्क और थायराइड के कैंसर की संभावना अधिक होती हैं| आज हम आपको क़ैसर के इलाज से जुड़ी कुछ जानकारियाँ देने वाले हैं| यह इलाज एक तरह से आयुर्वेदिक के टाइप का हैं जिसको करने के लिए आपको ज्यादा पैसे खर्च नहीं करने पड़ेंगे और आप कैंसर जैसे भारी बीमारी से छुटकारा पा सकते हैं|

हमारे शरीर में सौ से हजार सेल्स होते हैं| हमारे शरीर में हर समय खराब सेल्स खतम होते हैं और नये सेल्स पैदा होते हैं| कैंसर का रोग होने पर लाल और सफ़ेद रक्त कोशिकाओं का संतुलन बिगड़ने लगता हैं जिससे सेल्स की बढ़ोतरी नियंत्रण से बाहर हो जाती हैं| कैंसर के सेल्स शरीर में काम रुकावट डालते हैं| कैंसर सेल्स शरीर में अच्छे सेल्स के काम मे रुकावट डालते हैं| कैंसर सेल्स शरीर में नये बीमार सेल्स बनाते हैं और जिस अंग में ये सेल्स बनते हैं उस अंग का कामकाज प्रभावित होने लगता हैं|

आप सब हल्दी के गुण के बारे में जानते ही होंगे| हल्दी बहुत ही उपयोगी एंटीसेप्टिक का काम करता हैं| हल्दी का उपयोग वैसे तो हम खूबसूरती बढ़ाने में और शरीर के दर्द को कम करने के लिए करते हैं लेकिन आप इसका इस्तेमाल आप कैंसर के इलाज के रूप में कर सकते हैं| आप कैंसर का इलाज करने के लिए नियमित रूप से हल्दी का इस्तेमाल खाने में करे और हल्दी वाला दूध भी पिये|

इसके साथ ही आप हल्दी के साथ तुलसी के पत्तियों का इस्तेमाल करे| दूसरा उपाय करने के लिए आप गोमूत्र का इस्तेमाल करे| एक दिन में दो या चार बूंद गोमूत्र का इस्तेमाल करें| दो चार बार नहीं कर पा रहे हैं तो दिन में एक बार पानी के साथ इस्तेमाल करे| गो मूत्र में रोगों से लड़ने की क्षमता होती है|

तीसरा उपाय हैं की आप हल्दी और गो मूत्र का इस्तेमाल करे| इसका इस्तेमाल करने के लिए आप आधा चम्मच और आधा चम्मच गो मूत्र गरम करके इस्तेमाल करे| कैंसर के मरीजो को तांबे के बर्तन में पानी पीना चाहिए| इसके लिए आप तांबे के लोटे में रात भर पानी रख दे और सुबह खाली पेट पानी पी ले| इसके अलावा आप ग्रीन टी का इस्तेमाल करे| इससे आपको लाभ मिलेगा| आप नियमित रूप से धूप ले|

कैंसर के इलाज के लिए आप अनार का इस्तेमाल करे| इससे ब्रेस्ट कैंसर नहीं होता हैं| नियमित गाय के दूध का इस्तेमाल करे और लाल चन्दन घिसकर नाभि पर लगाए|

Loading...