वास्तुशास्त्र के अनुसार घर में लगाएं ऐसी घड़ियां, चमकेगी किस्मत

वास्तुशास्त्र में हमारे जीवन में शुभ और अशुभ प्रभाव डालने वाली स्थितियों के बारे में विस्तार से बताया गया है। वास्तु का हमारे जीवन पर गहरा असर पड़ता है। ऐसे ही हमारे जीवन में घड़ी का बहुत महत्व हैं. समय के साथ चलना, समय के अनुसार चलना, समय का ध्यान रख कर ही कार्य करना हर किसी की जरूरत है तो आज वास्तु टिप्स में हम आपको घड़ी के बारे में बताएंगे कि कैसी घड़ी आपको लगानी चाहिए और कैसी नहीं.

1. वास्तु के मुताबिक घर में बंद पड़ी या टूटी हुई दीवार घड़ी नहीं लगानी चाहिए। इससे घर में सकारात्मक ऊर्जा कम होने लगती है और नकारात्मकता बढ़ती है। इसी कारण आपका दुर्भाग्य शुरू हो जाता है।

  1. इसके साथ आपको घर के मेन गेट के ऊपर घड़ी नहीं लगानी चाहिए। ऐसा करने से घर के बाहर की नकारात्मकता आपके जीवन में प्रवेश करने लगती है और तनाव बढ़ने लगता है। आपके घर परिवार के लोगों पर संकट मंडराने लगता है।
  2. वास्तु के अनुसार घर की दक्षिण दिशा में यम का वास होता है और यही दिशा ठहराव का प्रतीक भी मानी जाती है। इस दिशा में घड़ी लगाने से आपका शुभ समय ठहर जाता है और सफलता के अवसर नहीं मिलते। इसीलिए दक्षिण दिशा में भी घड़ी न लगाएं।

इसके अलावा घर की दक्षिण दिशा घर के मुखिया की दिशा मानी जाती है। इसलिए इस दिशा में घड़ी लगाने से घर के मुखिया की सेहत पर भी बुरा असर पड़ सकता है।

वहीं अब ये बता दूं कि आपको घड़ी कहा लगाना चाहिए तो दीवार घड़ी को घर की पूर्व, पश्चिम या उत्तर दिशा में लगाना शुभ माना जाता है।

पूर्व दिशा में लगाई गई घड़ी घर का वातावरण शुभ और प्यार वाला बनाए रखती है। अगर आप पूर्व दिशा में त्रिकोण आकार और आयत आकार में लाल रंग की घड़ी लगाते हैं तो हेल्थ वेल्थ नेम एंड फेम मिलेगा. समय पर काम होंगे और काम करने में असानी होगीं ।

पश्चिम दिशा में घड़ी लगाने से घर के सदस्यों को नए अवसरों की प्राप्ति होती है इसीलिए आप पश्चिम दिशा में भी घड़ी लगा सकते हैं। आप अगर पश्चिम दिशा में आयत आकार या गोल आकार की पैनडुलम्ब वाली नीले रंग की घड़ी लगाएंगे तो बहुत ही शुभ होगा।

उत्तर दिशा में लगाई गई घड़ी घर को पैसों के नुकसान से बचाती है। इसीलिए गोल या दिल के आकार की सफेद रंग की घड़ी उत्तर दिशा में लगायें. धन शीघ्र आने लगेगा , कार्य बनेगे ,घर में खुशियां आएगी. शीघ्र काम होने लगेंगे.

Loading...