असम बाढ़: नवजात शिशु को कमर तक गहरे पानी में सड़क पार कराते दिखा पिता, लोगों ने श्रीकृष्ण और वासुदेव से कर दी तुलना

असम बाढ़ की चपेट में है। असम में बाढ़ अपने प्रचंड रूप में है। यहां पर जैसे तैसे लोग अपना समय गुजार रहे हैं। हालात ऐसे हैं, जो बिगड़ते ही जा रहे हैं। ऐसा बताया जा रहा है कि पिछले 24 घंटे में बाढ़ की वजह से कई लोगों की जान जा चुकी है। वहीं असम के 36 में से 32 जिलों में 47 लाख लोग बाढ़ से प्रभावित हैं। पिछले 7 दिनों में बाढ़ की स्थिति की वजह से कई लोगों की जिंदगी खत्म हो चुकी है और सैकड़ों गांव जलमग्न हो गए हैं।

बाढ़ की वजह से सड़कें तालाब बन गई हैं। सड़कों पर हर तरफ पानी ही पानी देखने को मिल रहा है। ऐसी स्थिति में राहत कार्य भी काफी मुश्किल हो चुका है। अब इसी बीच सोशल मीडिया पर एक वीडियो सामने आया है, जो काफी तेजी से वायरल हो रहा है। इस वीडियो में एक पिता बाढ़ प्रभावित इलाके में अपने नवजात शिशु को लेकर पानी से भरी सड़कों को पार करते हुए नजर आ रहा है।

नवजात शिशु को लेकर पानी से भरी सड़क को पार करते दिखा पिता

असम में बाढ़ के बीच लोगों को बहुत मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है लेकिन बाढ़ की मुश्किलें के बीच एक वीडियो इंटरनेट पर काफी तेजी से वायरल हो रहा है। दरअसल, असम के सिलचर में अपने नवजात शिशु के साथ एक जलमग्न सड़क पार करते हुए एक पिता का वीडियो सामने आया है। सिलचर जहां एक पूरी गली तालाब में तब्दील हो गई है। वहीं एक पिता अपने नवजात को सुरक्षित स्थान पर पहुंचाने की कोशिश कर रहा है।

ऐसी गंभीर परिस्थिति में भी उस पिता के चेहरे पर मुस्कान की झलक नजर आ रही है। उसकी यही मुस्कान लोगों का दिल जीत रही है। इस वायरल में वीडियो में देखा जा सकता है कि एक पिता अपने बच्चे को एक टोकरी में डालकर कमर तक गहरे पानी में सड़क पार कर रहा है। ऐसा करते वक्त पिता मुस्कुराते हुए दिख रहा है।

वीडियो हुआ वायरल

आपको बता दें कि सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म ट्विटर पर इस वीडियो को एक यूजर ने शेयर किया है और उसने इसे साझा करते हुए इसकी तुलना वासुदेव से भी की है, जिन्होंने भगवान श्री कृष्ण जी को सिर पर उठा कर यमुना पार की थी। यूजर ने कैप्शन में यह लिखा है कि “बाढ़ से जूझ रहे सिलचर से दिल छू लेने वाली तस्वीर! सिलचर में अपने नवजात बच्चे के साथ पानी पार करते हुए एक पिता का यह वीडियो वासुदेव का यमुना नदी पार करने की याद दिलाता है। सही में, हर दिन फादर्स डे है!”

असम में बाढ़ से तबाही

आपको बता दें कि आसाम में विनाशकारी बाढ़ की वजह से 36 में से 32 जिलों में 47 लाख से भी ज्यादा लोग प्रभावित हुए हैं। इसके अलावा राज्य में बाढ़ और भूस्खलन में 80 से ज्यादा लोगों की जान जा चुकी है। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने स्थिति के बारे में जानने के लिए दो बार मुख्यमंत्री हिमंत बिस्वा सरमा को हाल ही में फोन भी किया। राज्य के बराक घाटी क्षेत्र में बाढ़ की स्थिति बहुत ज्यादा खराब हो चुकी है।

रेलवे के द्वारा क्षेत्र में विशेष राहत ट्रेनें चलाई जाएंगी। वहीं एक लाख लीटर ईंधन एअरलिफ्ट किया जाएगा। इसके अलावा राष्ट्रीय आपदा प्रतिक्रिया बल (NDRF) की और टीमें क्षेत्र में भेजी जा रही हैं। असम में बाढ़ की स्थिति सोमवार को गंभीर बनी हुई थी। मुख्यमंत्री हिमंत बिस्वा सरमा ने उन क्षेत्रों में भोजन और अन्य राहत सामग्री को हवा से गिराने का निर्देश दिया, जहां भारी बाढ़ है।